#UttaraKarnatakaNirmana: Become Trend on twitter at (2017-11-24 02:43)


People talking about #UttaraKarnatakaNirmana: - HKrishann1 - PWCa3A7iTnY05yA - HKrishann - anilpatidar775 - kishoresingh50 - LakhadasGoyal - GirdhariMewada - SunilDass6 - SDDass2 - chhtrasingh[...]
- Sunildh92318555 - GugharwalSunil - sunil44231883 - Naveend11941655 - Yogeshk53841492 - Naveend11941655 - KKaswha - kuldeep09rath - Krishan94086113 - Naveen92140526 - kabiristruegod - kaharramlal - Bhagwan22067701 - RajDas35328759

This Tag appearing in: India: ( Nagpur - Lucknow - Kanpur - Patna - Ranchi - Kolkata - Srinagar - Amritsar - Jaipur - Ahmedabad - Rajkot - Surat - Bhopal - Indore - Thane - Mumbai - Pune - Hyderabad - Bangalore - Chennai - Delhi - India - ).
Popular tweets tagged with #UttaraKarnatakaNirmana:
#UttaraKarnatakaNirmana bhagat chhatar das B @chhtrasingh🔁#UttaraKarnatakaNirmana
कबीर, बिन मांगे मोती मिले, मांगे मिले न भीख, मॉंगन से मरना भला, यह सतगुरू जी की सीख
loading...
Anil Patidar @anilpatidar775🔁
संत रामपाल जी कहते है कि शास्त्रों के विरुद्ध साधना करना आत्महत्या करने के समान है संत रामपाल जी ऐसा क्यों कहते है जानने के लिये पढ़े पुस्तक।
👇👇


Hari Krishann @HKrishann🔁

बाइबल के उत्तपत्ति ग्रन्थ 2/26-30 तथा कुरान शरीफ की सूरत फुरकानी 25 आयत 52 से 59 में यह प्रमाण है कि परमात्मा ने 6 twitter.com दिन में श्रष्टि रची ओर सातवें दिन तख़्त पर जा विराजे।


Hari Krishann1 @HKrishann1🔁

बाइबल के उत्तपत्ति ग्रन्थ 2/26-30 तथा कुरान शरीफ की सूरत फुरकानी 25 आयत 52 से 59 में यह प्रमाण है कि परमात्मा ने 6 दिन में श्रष्टि रची ओर सातवें दिन तख़्त पर जा विराजे।


Nand Kishore Das @kishoresingh50🔁

क़ुरान में बताया गया अल्लाह कबीर
वेद में आया कविर्देव
गुरु ग्रन्थ साहिब में हक्का कबीर

बाइबिल में almighty kabir

जाने कौन है कबीर साहेब जी


LAKHADAS GOYAL @LakhadasGoyal🔁

भगति ओर अंधभगति कैसी होती है ?
आखिर लोग क्यों अपनी भगति को अंध भगति बताते है ।
इस पवित्र पुस्तक से जाने👇🏻


Girdhari Mewada @GirdhariMewada🔁
भैंसे को भैंसा कह कर पुकारेंगे तो वह टस से मस नहीं होगा भैंसे का मूलमंत्र कोई और है जैसे हम भैंसे को हुर्रर कह कर बुलाए तो वो आता है ऐसे ही सभी देवी देवताओं का एक मूल मंत्र है जो पुस्तक पढ़ने से मिलेगा।

Sunil Dass @SunilDass6🔁
शिव लिंग की पूजा कैसे आरंभ हुई ?? जानने के लिये अवश्य पढ़े पुस्तक
शास्त्रों के आधार पर । twitter.com

Poonamchand Gugharwal @GugharwalSunil🔁

कुरंग,पतंग,मतंग भृङ्गा
इंद्रिय ठग्यो तिन अंगा।
पांच विषय,विकार(शब्द,स्पर्श,रूप,रंग,गन्ध)जानिए ये पांच विकार मनुष्य पर किस प्रकार हावी होते है तथा चाहकर भी वह पाप करने से नही बच पाते है👇


Yogeshkumar @Yogeshk53841492🔁
क्या आप जानते है शीवलीगं पुजा करना वृथ है गीता जी मे तीनो देव. बृहमा,विश्णु,महेश की पुजा को भी मना कीया है
twitter.com
Kishn Lal Kaswha @KKaswha🔁
Q-श्रद्धालु का उद्देश्य क्या होता है❓

Ans-श्रद्धालु का उद्देश्य परमात्मा की भक्ति करके सर्व लाभ प्राप्त करने का होता है,श्रद्धालु अपने धर्म शास्त्रों को सत्य मानता है।ऐसे ही अन्य प्रश्न जानिए पुस्तक में


Kuldeep Nagar @kuldeep09rath🔁

गीता अध्याय 15श्लोक4 में तत्वज्ञान की प्राप्ति के पश्चात अज्ञान को इस तत्वज्ञान रूपी शस्त्र से काटकर यानी तत्वज्ञान twitter.com को भली भांति समझकर उसके पश्चात साधक संसार मे कभी नहीं आता।


Krishan Das @Krishan94086113🔁

जानिए एक ब्रह्मांड में तीन लोक
पृथ्वी , पाताल और स्वर्ग लोक के अलावा कितने लोक और आते है ?

क्या इन लोको में गए हुए जीव जन्म मरण में है या मोक्ष प्राप्त कर गए ?

क्या इन तीनो से बाहर ऐसा भी कोई स्थान है



05

இயங்காத நட்சத்திரம்இயங்காத நட்சத்திரம்இயங்காத நட்சத்திரம்இயங்காத நட்சத்திரம்இயங்காத நட்சத்திரம்